समाचार विस्तार से | एसजेवीएन लिमिटेड
समाचार

दीन दयाल उपाध्या-य ग्राम ज्यो्ति योजना के तहत 13000 से अधिक गांवों का विद्युतीकरण किया गया

अप्रैल 07, 2017

शिमला 07 अप्रैल,2017

भारत के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेन्‍द्र मोदी ने वर्ष 2015 के स्‍वतंत्रता दिवस के भाषण में घोषणा की थी कि हमारे देश के उन सभी गांवों जहां पर विद्युत नहीं है, का अगले 1000 दिनों अर्थात दिनांक 01 मई,2018 तक विद्युतीकरण किया जाएगा I  माननीय प्रधानमंत्री की परिकल्‍पना के अनुरूप विद्युत मंत्रालय ने वर्ष 2018 तक 18,452 गांवों को विद्युत उपलब्‍ध कराने के लक्ष्‍य की तुलना में 13,000 से अधिक गांवों, जहां विद्युत नहीं थी के विद्युतीकरण के माईलस्‍टोन को हासिल किया है I

 

विद्युत कोयला, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा के केन्‍दीय राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), श्री पीयूष गोयल ने बताया कि यह हम सभी के लिए गर्व का क्षण है, क्‍योंकि हमने 18,452 गांवों में से 13,000 से अधिक का विद्युतीकरण कर दिया है तथा शेष गांवों का विद्युतीकरण मई,2018 तक हो जाएगा I

 

गर्व पोर्टल, जो ग्रामीण विद्युतीकरण पर रियल टाईम डाटा उपलब्‍ध कराता है, के अनुसार अभी तक 13,174 गांवों का विद्युतीकरण किया गया है, जो लक्ष्‍य का 73% है I  पोर्टल के अनुसार 4,441 गांवों में ग्रामीण विद्युतीकरण का कार्य प्रगति पर है तथा 837 ऐसे गांव हैं जहां कोई आबादी नहीं हैं I

 

अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री रमेश नारायण मिश्र ने बताया कि हमारे माननीय प्रधानमंत्री के इस विज़न को पूरा करने के लिए एसजेवीएन अपने विद्युत स्‍टेशनों को दक्षता और प्रभावशीलता से प्रचालित करके एक छोटी सी भूमिका अदा कर रहा है तथा वर्तमान में 1965 मेगावाट मूल्‍यवान विद्युत का उत्‍पादन कर रहा है I  उन्‍होंने आगे बताया कि एसजेवीएन ने गुजरात राज्‍य के चारंका में 5 मेगावाट की सौर विद्युत परियोजना की कमीशनिंग के साथ विद्युत उत्‍पादन के एक अन्‍य क्षेत्र में सफलतापूर्वक प्रवेश किया है I
Go to Navigation