समाचार विस्तार से | एसजेवीएन लिमिटेड
समाचार

एसजेवीएन लिमिटेड ने हिमाचल प्रदेश सरकार को 200.45 करोड़ रुपए अंतरिम लाभांश के रूप में अदा किए

मार्च 06, 2018

शिमलाः 06 मार्च,2018

एसजेवीएन ने कंपनी की 25.5% इक्विटी धारक हिमाचल प्रदेश सरकार को 200.45 करोड़ रुपए का अंतरिम लाभांश अदा किया है I एसजेवीएन के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री नन्‍द लाल शर्मा द्वारा शिमला में हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्‍यमंत्री, श्री जयराम ठाकुर को लाभांश का चेक भेंट किया गया I मुख्‍यमंत्री के अतिरिक्‍त मुख्‍य सचिव–सह-प्रधान सचिव, सुश्री मनीषा नंदा, प्रधान सचिव (विद्युत), श्री आर.डी. धीमान तथा एसजेवीएन के निदेशक (विद्युत), श्री आर.के.बंसल की गरिमापूर्ण उपस्थिति में चेक भेंट किया गया I

माननीय मुख्‍यमंत्री को चेक भेंट करते हुए श्री नन्‍द लाल शर्मा ने उन्‍हें बताया कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने 1055.01 करोड़ रुपए की इक्विटी का निवेश किया है तथा इस लाभांश भुगतान के साथ एसजेवीएन लिमिटेड ने आज की तारीख तक हिमाचल प्रदेश सरकार को 1463.96 करोड़ रुपए का संचयी लाभांश अदा किया है I

श्री शर्मा ने माननीय मुख्‍यमंत्री को बताया कि एसजेवीएन के 1500 मेगावाट के नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्‍टेशन तथा 412 मेगावाट के रामपुर जलविद्युत स्‍टेशन नामक दो परियोजनाओं ने आज के दिन तक लगभग 1,00,776 मिलियन यूनिट विद्युत का उत्‍पादन किया है जिसमें से 12,093 मिलियन यूनिट विद्युत राज्‍य को निःशुल्‍क उपलब्‍ध कराई गई है I वर्तमान वित्‍तीय वर्ष के दौरान एसजेवीएन की इन दो परियोजनाओं ने लगभग 9000 मिलियन यूनिट का विद्युत उत्‍पादन किया है जिसमें से 1080 मिलियन यूनिट विद्युत की आपूर्त‍ि राज्‍य को निःशुल्‍क की गई है I

श्री नन्‍द लाल शर्मा ने माननीय मुख्‍यमंत्री से लूहरी जलविद्युत परियोजना तथा धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना के निष्‍पादन में राज्‍य सरकार के सक्रिय समर्थन हेतु अनुरोध किया I माननीय मुख्‍यमंत्री ने संबंधित प्राधिकारियों को आवश्‍यक निर्देश को जारी किए I

श्री शर्मा ने माननीय मुख्‍यमंत्री से राज्‍य में एसजेवीएन को अधिक जलविद्युत परियोजनाओं के आबंटन पर विचार करने हेतु भी अनुरोध किया I श्री शर्मा ने माननीय मुख्‍यमंत्री को आश्‍वासन दिया कि एसजेवीएन के पास जलविद्युत परियोजनाओं के निर्माण के लिए आवश्‍यक योग्‍यता और संसाधन है I उन्‍होंने आगे कहा कि इससे राज्‍य सरकार को राज्‍य की जलविद्युत क्षमता के दोहन में मदद मिलेगी, जिससे राज्‍य को आर्थिक और सामाजिक रूप से लाभ प्राप्‍त होगा I

हिमाचल प्रदेश में परियोजनाएं निष्‍पादित करने के अलावा,एसजेवीएन वर्तमान में नेपाल, भूटान, उत्‍तराखण्‍ड, बिहार तथा गुजरात में परियोजनाएं निष्‍पादित कर रहा है I वर्तमान में 2000 मेगावाट की स्‍थापित क्षमता वाले एसजेवीएन ने पवन विद्युत,ताप विद्युत तथा विद्युत पारेषण के क्षेत्र में पहले ही विविधिकरण कर लिया है I
Go to Navigation