समाचार विस्तार से | एसजेवीएन लिमिटेड
समाचार

हिमाचल प्रदेश सरकार ने 780 मेगावाट जंगी थोपान पोवारी जलविद्युत परियोजना एसजेवीएन को आबंटित की

नवम्बर 25, 2018

हिमाचल प्रदेश सरकार ने किन्नौर जिले में स्थ‍ित 780 मेगावाट जंगी थोपान पोवारी जलविद्युत परियोजना एसजेवीएन को सौंपी है I   हिमाचल प्रदेश सरकार के ऊर्जा निदेशालय द्वारा जारी आबंटन पत्र के अनुसार बिल्ट, ओन, ऑपरेट एवं ट्रांसफर (बूट) आधार पर यह परियोजना 70 वर्ष की अवधि‍ के लिए आबंटि‍त की गई है I

 

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री नन्द लाल शर्मा ने हिमाचल प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री, श्री जयराम ठाकुर एवं राज्य सरकार का एसजेवीएन में अपना विश्वास जाहिर करने के लिए धन्यवाद किया उन्होंने आश्वासि‍त किया है कि एसजेवीएन इस परियोजना को समयबद्ध ढंग से पूरा करेगा और इससे परियोजना प्रभावित क्षेत्र के विकास में काफी मदद मिलेगी I  उन्होने आगे कहा कि एसजेवीएन के पास क्षेत्र में अवसरंचना उपलब्ध है और यह कारक इस परियोजना को तीव्र गति से पूरा करने में निर्णायक साबित होगा I

 

उन्होंने आगे कहा कि एसजेवीएन की वर्तमान स्थापित विद्युत क्षमता 2003.2 मेगावाट (1912 मेगावाट जलविद्युत + 85.6 मेगावाट पवन विद्युत + 5.6 मेगावाट सौर विद्युत) से युक्त है उन्होंने आगे कहा कि इस परियोजना के अलावा एसजेवीएन विभि‍न्न परियोजनाओं का निर्माण करने की प्रक्रिया में जो विकास की विभि‍न्न अवस्थाओं में है और इनके पूरा होने से क्षमतागत बढ़ोत्तरी 4018 मेगावाट हो जाएगी 1572 मेगावाट की उत्पादन क्षमता की संभाव्यता के साथ अन्य परियोजनाएं निर्माणाधीन है 1848 मेगावाट की परियोजनाएं निर्माण पूर्व एवं निवेश अनुमोदन के अधीन तथा 598 मेगावाट क्षमता की अन्वेषण अवस्था के अधीन है एसजेवीएन अभूतपूर्व प्रगति के पथ पर अग्रसर है और कंपनी के खाते में अंतर्राष्ट्रीय प्रसिद्धि वाली विशाल परियोजनाएं है एसजेवीएन ने सन 2030 तक 12000 मेगावाट और सन 2040 तक 25000 मेगावाट की स्थापित क्षमता का आंतरिक उन्नति लक्ष्य परिकल्पि‍त किया है

 

श्री शर्मा ने बताया कि जलविद्युत एसजेवीएन का मुख्य आधार है और कंपनी ने हिमाचल प्रदेश में देश के सबसे बड़े 1500 मेगावाट नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्टेशन के निर्माण का अनुभव है, जो कि इस परियोजना के डाऊनस्ट्रीम में है इसके अलावा, हिमाचल प्रदेश में परियोजनाओं के निर्माण के साथ-साथ एसजेवीएन नेपाल,भूटान तथा उत्तराखंड में परियोजनाएं बना रहा है एसजेवीएन नवीकरणीय ऊर्जा, विद्युत पारेषण तथा ताप विद्युत के क्षेत्र में भी उतर चुका हैं I 
Go to Navigation